What is 80:20 Gold Import Scheme? And Why it was scrapped by NDA Government?

यूपीए सरकार ने अगस्त 2013 में एक स्कीम लॉन्च की थी 80-20। सरकार की कोशिश थी कि सोने के आयात पर रोक लगाई जा सके, ताकि करेन्ट अकाउंट डेफिसिट को संभाला जा सके। स्कीम के मुताबिक, प्राइवेट ट्रेडर्स को इम्पोर्टेड सोने का 20% एक्सपोर्ट करने की अनुमति दी गई थी। ये ट्रेडर्स बाकी बचे 80% सोने को देश के बाजार में बेच सकते थे। इस स्कीम को एनडीए सरकार ने 2014 में खत्म कर दिया था।

गोल्ड के इंपोर्ट के लिए 2013 में लॉन्च हुई 80:20 स्कीम पर डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) सहमत नहीं था।

डीआरआई को थी राउंड ट्रिपिंग की आशंका
सूत्रों के मुताबिक, DRI को आशंका थी कि इस योजना से गोल्‍ड के आयात के नाम पर राउंड ट्रिपिंग होने लगेगी। 2013 में यूपीए सरकार के समय में 80:20 गोल्‍ड आयात योजना शुरू की गई थी। इस योजना के तहत गोल्‍ड आयातकों के लिए शर्त थी कि वह अगला निर्यात तभी कर सकते हैं जब पिछले अायात का 20 फीसदी निर्यात किया हो। भाजपा सरकार ने आते ही इस योजना को 2014 में खत्‍म कर दिया था।

राउंड ट्रिपिंग का आरोप
उन्‍होंने बताया – “यूपीए सरकार में करेंट अकाउंट डेफिसिटी बहुत गंभीर हो गया था। लोगों को गोल्ड को इम्पोर्ट करने का अवसर कम मिले, ताकि फॉरेन एक्सचेंज पर दबाव हो। इसलिए सिर्फ MMTC और पीएसयू को ही गोल्ड को इम्पोर्ट करने का अधिकार मिले। उसको बदलकर कहा गया कि कुछ प्राइवेट कंपनियों को भी इसका फायदा मिले। अब इस स्कीम में ऐसा था कि आप बाहर से सोना लाइए और उसको ज्वैलरी बनाकर एक्सपोर्ट करिए। उसमें सामने आया कि ज्वैलरी के नाम पर सिर्फ बड़ी-बड़ी सोने की चूड़ियां बनती थीं और बाहर चली जाती थीं। यानी राउंड ट्रिपिंग होती थी। इन्हें लग गया था कि अब सरकार जाने वाली है। इसलिए यह फैसला लिया गया। इनमें कंपनियों में गीतांजलि जेम्स भी शामिल थी।”

How does Gold Loan System work?

 

Working example of the operations of 20/80 scheme for import of gold is given below

1. A nominated bank/agency/ any other entity ABC imports say 100 kg of gold, which shall be routed through custom bonded warehouses only. If considered necessary, the lot can be procured through two invoices – one for exporters (i.e.20%) and the other one for domestic users (80%).

2. Out of the above import of 100 kg, 20 kg gold held in the bonded warehouse can be got released in part or full to be made available to the exporters of gold against undertaking to customs authorities as is the practice now.

3. The balance 80 kg can be supplied in part or full to domestic entities engaged in jewellery business/bullion traders/banks operating the Gold Deposit Scheme against full upfront payment. In other words, no credit sale of gold in any form will be permitted for domestic use. In case, the nominated bank itself is operating the Gold Deposit Scheme, the bank is permitted to use out of 80 kg, a portion for regularising own open position in gold arising out of operations of the Gold Deposit Scheme.

4. Next lot of import of gold by ABC shall be permitted by the customs authorities only after  the quantity earmarked for exporter clients (i.e. 20 per cent of the imported lot) is released to the exporters against their undertaking to fulfill the export commitments within the stipulated time.

5. The quantum of gold permitted to be imported in the third lot will be restricted to 5 times the quantum for which proof of export is submitted. For import of gold in the subsequent lots, the cycle may be repeated following the 20/80 principle.

Note: The same procedure is to be followed by the refineries and by any other entity importing gold in any other form/ purity and in the case of import of Gold Dore also.

Advertisements

Comments are closed.